Followers

Monday, September 5, 2011

गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णु

गुरुर्ब्रह्मा गुरुर्विष्णु गुरुर्देवो महेश्वर 
गुरुर्शाक्षात परब्रह्म तस्मै श्री गुरवे नम:

सभी गुरुओ को जो हमारे सच्चे पथ प्रदर्शक भी है मेरा नमन |आपके विचारों को पढ़ कर व समझ कर और आपके बताये  रास्ते पर चलकर ही हम आज इस मुकाम पर है|एक सम्मानित जीवन प्रदान कराने के लिए मेरे सभी शिक्षकों को मेरा हार्दिक धन्यवाद व प्रणाम |

6 comments:

  1. श्रद्धेय नमन...

    ReplyDelete
  2. Interesting blog...excellent range of subjects and very good command over the language:)

    ReplyDelete
  3. shikshak diwas kee aapko bhi haardik shubhkamnayen..

    ReplyDelete
  4. अनामिका जी,
    नमस्कार,
    आपके ब्लॉग को "सिटी जलालाबाद डाट ब्लॉगसपाट डाट काम" के "हिंदी ब्लॉग लिस्ट पेज" पर लिंक किया जा रहा है|

    ReplyDelete
  5. I found the meaning different from anywhere else.

    ReplyDelete

comments in hindi

web-stat

'networkedblogs_

Blog Top Sites

www.blogerzoom.com

widgets.amung.us